Neki Ki Raah Lyrics - Song By Arjit Singh

Neki Ki Raah Lyrics - Song By Arjit Singh

Neki Ki Raah Lyrics In English

Chorus :
Neki Ki Raaho Pe Tu Chal 
Rabba Rahega Tere Sang
Neki Ki Raaho Pe Tu Chal 
Rabba Rahega Tere Sang

Woh To Hai Tere Dil Me Haan
Tu Kyu Bahar Usse Dhoondhata

Neki Ki Raaho Pe Tu Chal 
Rabba Rahega Tere Sang

Kabhi Hai Who Sahil Pe
Kabhi Hai Wo Maujo Pe
Kabhi Hai Parinda Who Udta Hua
Wo Toh Khuda Hai Jeevan Hai Raah Hai 
Usko Na Mazhab Me Kaid Karna

Verse 1:
Woh Wafadar Hai 
Haan Khud Hi Pyar Hai
Saaye Me Uske Sukun Kitna 
Duniya Ka Noor Hai Na Tumse Door Hai
Pakeezgi Me Wo Hai Basta

Rooh E Khuda Ka Hai Aasra
Wohi Toh Hai Apna Ye Jahan Us Ka Hai

Neki Ki Raaho Pe Tu chal 
Rabba Rahega Tere Sang

Woh To Hai Tere Dil Me Haan
Tu Kyu Bahar Usse Dhoondhata

Neki Ki Raaho Pe Tu Chal 
Rabba Rahega Tere Sang

Verse 2:
Rab Se Mahobbat Kar 
Uski Ibadat Kar 
Usne Hi Di Hai Hume Zindagi
Uske Karam Se Har Vachan Se 
Raaho Pe Tere Giregi Roshni

Sako Tu Maaf Kar
Khud Na Insaaf Kar
Uspe Toh Haq Bas Khuda Ka Hi Hai

Tu Auro Se Is Kadar Mil
Jaise Tu Chahe Woh Tujhse Mile

Kahe Yeshuaa Tu Imaan La
To Parat Bhi Tere Hukum Pe Chalega

Neki Ki Raaho Pe Tu chal 
Rabba Rahega Tere sang

Woh To Hai Tere Dil Me Haan
Tu Kyu Bahar Usse Dhoondhata

Neki Ki Raaho Pe Tu Chal 
Rabba Rahega Tere Sang


Neki Ki Raah Lyrics In Hindi

नेकी की राहों पे तू चल
रब्बा रहेगा तेरे संग
नेकी की राहों पे तू चल
रब्बा रहेगा तेरे संग
वो तो है तेरे दिल में, हाँ
तू क्यूँ बाहर उसे ढूंढता?
नेकी की राहों पे तू चल
रब्बा रहेगा तेरे संग
कभी है वो साहिल पे
कभी है वो मौजों पे
कभी है परिंदा वो उड़ता हुआ
वो तो खुदा है, जीवन है, राह है
उसको ना मज़हब में कैद करना
वो वफ़ादार है, हाँ, खुद ही प्यार है
साये में उसके सुकूँ कितना
दुनिया का नूर है, ना तुमसे दूर है
पाकीज़गी में वो है बसता
रूह-ए-खुदा का है आसरा
वही तो है अपना, ये जहाँ उसका है
नेकी की राहों पे तू चल
रब्बा रहेगा तेरे संग
वो तो है तेरे दिल में, हाँ
तू क्यूँ बाहर उसे ढूंढता?
नेकी की राहों पे तू चल
रब्बा रहेगा तेरे संग
रब से मोहब्बत कर, उसकी इबादत कर
उसने ही दी है हमें ज़िन्दगी
उसके करम से, हर वचन से
राहों पे तेरी गिरेगी रोशनी
सबको तू माफ़ कर, खुद ना इंसाफ़ कर
उसपे तो हक बस खुदा का ही है
तू औरों से इस कदर मिल
जैसे तू चाहे वो तुझसे मिलें
कहे येशुआ, "तू ईमान ला
तो परबत भी तेरे हुकुम पे चलेगा"
नेकी की राहों पे तू चल
रब्बा रहेगा तेरे संग
वो तो है तेरे दिल में, हाँ
तू क्यूँ बाहर उसे ढूंढता?
नेकी की राहों पे तू चल
रब्बा रहेगा तेरे संग 


Post a comment

0 Comments