Dil Se Aradhana Karu Main Lyrics

Dil Se Aradhana Karu Main Lyrics

Dil Se Aradhana Karu Main Lyrics In English

Dil Se Aradhana Karu Main
Is Jubaan Se Naam Tera Hi Lu Main
Pure Dil Se Aradhana Karu Main
Is Jubaan Se Naam Tera Hi Lun Mai

Karta Hu Tera Shukriya Mai Prabhu
Karta Hu Tera Shukriya Mai (2)
Tere Fazal Me, Teri Daya Me
Lipta Mai Reheta Hun (2)
Main Rehta Hun - Main Reheta Hun

Jab Hota Hun Bechain Kabhi
Teri Ruh Tab Mujh Ko Thamti Hai
Meri Mushkilo Main
Har Ek Dard Aur Gam Me
Khudaband Tu Hi Mera Saafi Hai (2)

Karta Hu Tera Shukriya Mai Prabhu
Karta Hu Tera Shukriya Mai (2)
Tere Fazal Me, Teri Daya Me
Lipta Mai Reheta Hun (2)
Main Rehta Hun - Main Reheta Hun

Jab Leta Hun Mai Naam Tera
Teri Samarth Ko Tab Mai Dekhta Hu
Tujh Se Milli Har Barkat Mujhe
Mehfooj Tere Sang Mai Rehta Hu (2)

Karta Hu Tera Shukriya Mai Prabhu
Karta Hu Tera Shukriya Mai (2)
Tere Fazal Me, Teri Daya Me
Lipta Mai Reheta Hun (2)
Main Rehta Hun - Main Reheta Hun

Dil Se Aradhana Karu Main
Is Jubaan Se Naam Tera Hi Lu Main
Pure Dil Se Aradhana Karu Main
Is Jubaan Se Naam Tera Hi Lun Mai

Karta Hu Tera Shukriya Mai Prabhu
Karta Hu Tera Shukriya Mai (2)
Tere Fazal Me, Teri Daya Me
Lipta Mai Reheta Hun (2)
(Mai Rehta Hoon - Mai Rehta Hoon)



Dil Se Aradhana Karu Main Lyrics In Hindi

दिल से आराधना करू मैं
इस ज़ूबा से नाम तेरा ही लू मैं
पूरे दिल से आराधना करू मैं
इस ज़ूबा से नाम तेरा ही लू मैं

करता हूँ तेरा शुक्रिया मैं प्रभु
करता हूँ तेरा शुक्रिया मैं (२)
तेरे फ़ज़ल में, तेरी दया में
लिपटा मैं रहता हू (२) मैं रहता हूँ (२)

जब होता हूँ, बेचैन कभी
तेरी रूह तब मुझको थामती है
मेरी मुश्किलो में, हर एक दर्द और गम में
खुदावंद तू ही मेरा शाफ़ी है (२)

करता हूँ तेरा शुक्रिया मैं प्रभु
करता हूँ तेरा शुक्रिया मैं (२)
तेरे फ़ज़ल में, तेरी दया में
लिपटा मैं रहता हू (२) मैं रहता हूँ (२)

जब लेता हूँ, मैं नाम तेरा
तेरी सामर्थ को तब मैं देखता हूँ
तुझसे मिली, हर बरकत मुझे
महफूज़ तेरे, संग मैं रहता हू (२)

करता हूँ तेरा शुक्रिया मैं प्रभु
करता हूँ तेरा शुक्रिया मैं (२)
तेरे फ़ज़ल में, तेरी दया में
लिपटा मैं रहता हू (२) मैं रहता हूँ (२)

दिल से आराधना करू मैं
इस ज़ूबा से नाम तेरा ही लू मैं
पूरे दिल से आराधना करू मैं
इस ज़ूबा से नाम तेरा ही लू मैं

करता हूँ तेरा शुक्रिया मैं प्रभु
करता हूँ तेरा शुक्रिया मैं (२)
तेरे फ़ज़ल में, तेरी दया में

लिपटा मैं रहता हू (२) मैं रहता हूँ (८)

Post a comment

0 Comments